हिमाचल चुनाव: देश को लूटने वालों का हम चुन-चुनकर हिसाब करने में लगे हैं- PM मोदी

0 63
शिमला.नरेंद्र मोदी ने शनिवार को हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा और मंडी में रैली की। उन्होंने कहा कि जब तक कांग्रेस को सजा नहीं देंगे, वो पार्टी सुधरने वाली नहीं। देश को लूटने वालों के हम चुन-चुनकर हिसाब कर रहे हैं। रविवार को नरेंद्र मोदी ऊना, पालमपुर और कुल्लू में जनसभा को संबोधित करेंगे। दूसरी तरफ, कांग्रेस के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुल गांधी 6 नवंबर को 3 रैलियां करेंगे। बता दें कि हिमाचल में एक फेज में 9 नवंबर को वोटिंग होनी है।
 मैं मौज करने या परिवार का भला करने नहीं आया
– मोदी ने मंडी में कहा, “कांग्रेस को पता होना चाहिए कि देश की जनता ने मुझे 2014 में भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ने के लिए दिल्ली के सिंहासन पर बैठाया है। मौज करने, अपने परिवार का भला करने, अपने दोस्तों का भाग्य बनाने के लिए नहीं बनाया है। भारत का भाग्य बनाने के लिए बनाया है और मैं इस काम से कभी विचलित नहीं होने वाला हूं।”
– “एक तरफ हम भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे हैं। बेनामी संपत्ति, जिन्होंने जमाकर, छिपाकर, दूसरों के नाम पर संपत्ति रखी है। कांग्रेस के कई नेता होंगे, किसी ने ड्राइवर-रसोइए के नाम पर मकान बनाकर रखा होगा। ये जनता के पैसे हैं, जनता से लूटे गए पैसे हैं। वो पैसे जनता के ही काम आने चाहिए और हम देश को लूटने वालों का चुन-चुनकर हिसाब करने में लगे हुए हैं और सफाई करके रहेंगे।”
– “हमारी मंडी की माताओं-बहनों ने स्वच्छता अभियान चलाया। इसी जिले से राजनीति और भ्रष्टाचार का सफाई अभियान भी शुरू होगा। और, उतनी ही अच्छी तरह से चलेगा, जैसे स्वच्छता अभियान चला।”
– “हमारा सामान्य आदमी कानून के हिसाब से चलता है, मुसीबत में जिंदगी काट लेता है, लेकिन गलत रास्ते पर नहीं जाता।”
हिंदुस्तान की जय-जयकार के पीछे सवा सौ करोड़ भारतीय
– “जब मोदी दुनिया के किसी देश में किसी नेता से हाथ मिलाता, गले लगता है तो उसे मोदी नहीं, उसके पीछे खड़े हुए सवा सौ करोड़ हिंदुस्तानी दिखते हैं। भारत की इस ताकत को दुनिया समझने और मानने लगी है।”
– “हिमाचल का डंका भी दुनिया में बजना चाहिए। अगर ये सपना पूरा करना है तो तीन-चौथाई बहुमत के साथ भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनाइए। पूरा हिंदुस्तान हिमाचली जनता की ताकत का लोहा मान ले। भारत के अंदर हर कोने में हिमाचली लोगों का गुणगान आम बात बन जाएगी।”
– “मैं केवल बीजेपी को जिताइए, ये नहीं कहने आया हूं, मैं आपके पास तीन-चौथाई बहुमत मांगने आया हूं।”
– “कांग्रेस पार्टी को जब तक आप सजा नहीं दोगे, वो पार्टी सुधरेगी नहीं।”
राहुल गांधी अभी तक कैम्पेन के लिए नहीं पहुंचे
– हिमाचल में चुनाव की तारीख के एलान के बाद राहुल गांधी ने अभी तक राज्य में एक भी रैली नहीं की है। अब मतदान से तीन दिन पहले उनका हिमाचल आने का प्रोग्राम बन रहा है। राहुल 6 नवंबर को 3 रैलियां करेंगे। उनकी चुनावी रैली नाहन के पावंटा, चंबा और कांगड़ा के नगरोटा में होंगी।
 मोदी ने गुरुवार को की थीं दो रैलियां, कहा था- कांग्रेस सड़ी सोच, लाफिंग क्लब बनी
– नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में पहली चुनावी रैली की। दूसरी रैली नाहन में की। कांगड़ा में उन्होंने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। उसे एक सड़ी सोच तक कहा। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस सरकार ने राज्य में 5 राक्षसों को पनपने दिया। मोदी ने कहा, “कांग्रेस का एक नेता ये कह रहा है कि कश्मीर को आजादी चाहिए। मुझे लगता है कि कांग्रेस लाफिंग क्लब बन गई है। देश में कांग्रेस को हटाने के लिए लोगों ने स्वच्छता अभियान चला रखा है।” बता दें कि हिमाचल में एक फेज में 9 नवंबर को वोटिंग होनी है।
– “5 राक्षसों को पनपने का अवसर यहां की कांग्रेस सरकार ने दिया है। क्या फिर से एक बार देवभूमि को राक्षसों से मुक्त करना है या नहीं। ये 5 राक्षस हिमाचल को मिट्टी में मिलाने पर तुले हैं। अब आपको फैसला करना है कि इन राक्षसों से राज्य को मुक्ति दिलाना है या नहीं।”
ये पांच राक्षस हैं: पहला- एक राक्षस खनन माफिया जो भू-संपदा को लूट रहा है। दूसरा राक्षस वन माफिया जो जंगलों को काट रहा है, लूट रहा है। तीसरा: ड्रग्स, जो पीढ़ी को खत्म कर रहा है। चौथा: ट्रांसफर माफिया और पांचवां: टेंडर माफिया।
 हिमाचल इलेक्शन का शेड्यूल
वोटिंग: 9 नवंबर
नतीजे: 18 दिसंबर
कुल सीटें: 68
 अब तक राज्य में राजपूत और ब्राह्मण कम्युनिटी से ही बने हैं सीएम
– प्रदेश में 35% राजपूत हैं। इसके बाद ब्राह्मण कम्युनिटी की 19 से 20% वोट हैं। प्रदेश में अब तक पांच सीएम राजपूत बने। सिर्फ शांताकुमार ही ब्राह्मण कम्युनिटी के सीएम बने।
– बीजेपी ने दो बार सीएम रह चुके प्रेम कुमार धूमल को सीएम कैंडिडेट बनाया है। वहीं, इस चुनाव में कांग्रेस वीरभद्र सिंह के चेहरे पर चुनाव लड़ रही है। दोनों पांचवीं बार सीएम के तौर पर आमने-सामने हैं। इससे पहले 1998, 2003, 2007 और 2012 में ये दोनों अपनी-अपनी पार्टी से मैदान में थे।
हिमाचल में 27 साल में 60 से ज्यादा सीटें किसी पार्टी को नहीं मिलीं
साल कांग्रेस भाजपा अन्य
1990 9 46 13
1993 52 8 8
1998 31 31 6
2003 43 16 9
2007 23 41 4
2012 36 26 6

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Bitnami