Trolling पर मसाबा बोलीं- 10 साल की उम्र से मुझे नाजायज कहा जा रहा है , चेतन भगत ने किया सपोर्ट

0 35

फैशन डिजाइनर मसाबा गुप्ता ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिल्ली एनसीआर में पटाखों की ब्रिकी पर प्रतिबंध लगाए जाने का समर्थन किया है. लेकिन उन्हें अपनी ये राय जाहिर करना उस समय भारी पड़ गया, जब सोशल मीडिया पर उनकी ट्रोलिंग शुरू हो गई. उधर, ख्यात राइटर चेतन भगत ने मसाबा का समर्थन किया है, जबकि वे पटाखों पर बैन के विरोध में हैं.

मसाबा के बारे में ट्रोलर्स ने आपत्तिजनक टिप्पणियां कीं. इनका जवाब मसाबा ने एक लंबा नोट सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया है. इसमें उन्होंने लिखा है, ‘हाल ही में मैंने अन्य मामलों की तरह पटाखों पर बैन के मामले में अपनी राय दी. जिस पर ट्रोलिंग शुरू हो गई. मुझे ‘नाजायज औलाद’ और ‘वेस्ट इंडियन’ कहा गया. मैं इस पर गर्व महसूस करती हूं, क्योंकि मैं दो जायज शख्स‍ियतों की संतान हूं. मैंने अपनी जिदंगी पर्सनल और प्रोफेशनली बेहतर बताई है, जिस पर मुझे गर्व है. मैं अपने लिए ऐसे नाम दस साल की उम्र से सुनती आ रही हूं. ये दोनों शब्द मैं अखबार में भी पढ़ती आई हूं. मेरी वैधता मेरे काम से और समाज को दिए मेरे योगदान से आती है.’

बता दें कि मसाबा गुप्ता फैशन डिजाइनर हैं. वो नीना गुप्ता और विवियन रिर्चड्स की बेटी हैं. मसाबा का बॉलीवुड की कई हस्तियों ने समर्थन किया है.

चेतन भगत ने मसाबा का समर्थन करते हुए लिखा है, आप शानदार है. मैं वाकई बेहद प्रेरक लोगों से मिला हूं. मुझसे सीखो. आप इस सबसे बहुत बड़ी हो. बता दें कि पटाखों की ब्रिकी पर बैन के समर्थन और विरोध में लोग दो धड़ों में बंट गए हैं. बॉलीवुड सेलेब्रिटीज ने भी अपनी अलग-अलग राय दी है.

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Bitnami