Women’s WC Final : खिताब के करीब पहुंचकर हारी भारतीय टीम, 9 रन से जीत दर्ज कर इंग्‍लैंड बना चैंपियन

0 181

लंदन: वर्ल्‍डकप खिताब के बेहद नजदीक पहुंचकर भी मिताली राज की भारतीय टीम खिताब से दूर रह गई. इंग्‍लैंड ने रोमांच से भरे फाइनल मुकाबले में भारत को 9 रन से हराकर वर्ल्‍डकप चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया. दूसरी ओर, दूसरी बार फाइनल में पहुंची भारतीय टीम को एक बार फिर उपविजेता रहकर संतोष करना पड़ा. मैच में एक समय भारतीय टीम मजबूती से जीत की ओर बढ़ रही थी, लेकिन आखिरी क्षणों की विकेट की पतझड़ टीम पर भारी पड़ी. मैच में पहले बैटिंग करते हुए इंग्‍लैंड टीम ने नताली शिवर के 51 और सारा टेलर के 45 रन की मदद से निर्धारित 50 ओवर में 7 विकेट पर 228 रन का स्‍कोर बनाया. जवाब में लक्ष्‍य का पीछा भारतीय टीम ने मजबूती के साथ किया. पूनम राउत (86) और हरमनप्रीत (51)ने अर्धशतकीय पारी खेली. एक समय टीम का स्‍कोर तीन विकेट पर 191 रन था, लेकिन इसके बाद विकेटों की पतझड़ का दौर शुरू हो गया और टीम 219 रन बनाकर ढेर हो गई.

दूसरे ही ओवर में लगा भारत को पहला झटका
इंग्‍लैंड के स्‍कोर के जवाब में भारतीय पारी की शुरुआत पूनम राउत और स्‍मृति मंधाना ने की, लेकिन पारी के दूसरे ही ओवर में भारतीय टीम को स्‍मृति मंधाना (0) का विकेट गंवाना पड़ा. स्‍मृति को आन्या श्रुबशोल ने बोल्‍ड किया. पहला विकेट 5 रन के स्‍कोर पर गिरा. भारतीय पारी का पहला चौका, चौथे ओवर में पूनम राउत ने लगाया. पारी के आठवें ओवर में पूनम ने श्रुबशोल की गेंद पर छक्‍का भी लगाया. 10 ओवर के बाद टीम का स्‍कोर एक विकेट खोकर 31 रन था. पारी के 11वें ओवर में पूनम और मिताली ने एक-एक चौका लगाया. इस ओवर में 10 रन बने. पूनम और मिताली की जोड़ी जब सेट होती लग रही थी तभी पारी के 13वें ओवर में मिताली (17 रन, तीन चौके) को रन आउट होना पड़ा. दूसरा विकेट 43 के स्‍कोर पर गिरा.

अर्धशतक बनाकर आउट हुईं हरमनप्रीत 
20 ओवर के बाद भारतीय टीम का स्‍कोर दो विकेट पर 69 रन था. इस ओवर में 10 रन बने, जिसमें हरमनप्रीत की ओर से लगाया गया छक्‍का शामिल था. हरमनप्रीत ने इसके बाद हार्टले की गेंद पर पारी के 23वें ओवर में फिर छक्‍का लगाया. इस ओवर में 9 रन बने. पूनम राउत भी उनके आदर्श जोड़ीदार की भूमिका निभाते हुए इंग्‍लैंड की मुश्किलें बढ़ाने में कोई कसर बाकी नहीं रख रही थीं. 25 ओवर के बाद भारतीय टीम का स्‍कोर दो विकेट पर 92 रन था. भारतीय टीम के 100 रन 26.1 ओवर में पूरे हुए. 30वें ओवर में पूनम राउत ने जिम्‍मेदारी से भरा अर्धशतक पूरा किया. इस दौरान उन्‍होंने 75 गेंदों का सामना करके दो चौके और एक छक्‍का लगाया. इसके थोड़ी ही देर बाद हरमनप्रीत ने भी अपना अर्धशतक पूरा किया. इस दौरान उन्‍होंने 78 गेंदों का सामना करके तीन चौके और दो छक्‍के लगाए. जब यह जोड़ी भारत को जीत तक पहुंचाती लग रही थी तभी टीम को हरमनप्रीत का विकेट गंवाना पड़ा. उन्‍हें 51 रन (तीन चौके, दो छक्‍के) के निजी स्‍कोर पर हार्टले ने ब्‍युमोंट के हाथों कैच कराया. तीसरा विकेट 138 रन के स्‍कोर पर गिरा. पूनम-हरमनप्रीत के बीच तीसरे विकेट के लिए 95 रन की साझेदारी हुई. पारी के 38वें ओवर में वेदा कृष्‍णमूर्ति को जीवनदान मिला जब जेनी गुन की गेंद पर कप्‍तान नाइट ने कैच छोड़ दिया. जवाब में 40 ओवर के बाद भारतीय टीम का स्‍कोर तीन विकेट खोकर 173 रन था. शेष 10 ओवर में टीम को जीत के लिए 56 रन की जरूरत थी.

पूनम के आउट होते ही विकेटों की पतझड़ शुरू
पारी के 38वें ओवर में वेदा कृष्‍णमूर्ति को जीवनदान मिला, जब जेनी गुन की गेंद पर कप्‍तान नाइट ने कैच छोड़ दिया. ऐसे समय जब भारतीय टीम जीत की ओर मजबूती से बढ़ती नजर आ रही थी, पूनम राउत (86) और सुषमा वर्मा (0) के आउट होने से मैच में रोमांच वापस लौटने लगा. पूनम जहां एलबीडब्‍ल्‍यू आउट हुईं वहीं सुषमा को हार्टले ने बोल्‍ड किया. भारत का चौथा विकेट 191 और पांचवां 196 के स्‍कोर पर गिरा. इसके बाद वेदा कृष्‍णमूर्ति (35) और झूलन गोस्‍वामी भी बिना कोई रन बनाए आउट हो गईं. 11 रन के अंदर भारत ने चार विकेट गंवा दिए और टीम मुश्किल में फंस गई. विकेट की पतझड़ का यह सिलसिला आगे भी जारी रहा. टीम के अगले तीन विकेट शिखा पांडे (4), दीप्ति शर्मा (14) और राजेश्‍वरी (0) के रूप में गिरे. देखते ही देखते तीन विकेट पर 191 रन की स्थिति में बेहद मजबूत नजर आ रही भारतीय टीम 48.4 ओवर में 219 रन बनाकर आउट हो गई. इंग्‍लैंड के लिए आन्या श्रुबशोल ने सर्वाधिक छह विकेट लिए.

भारत के विकेटों का पतन : 5-1 (स्‍मृति, 1.4), 43-2 (मिताली, 12.1), 138-3 (हरमनप्रीत, 33.3), 191-4 (पूनम राउत, 42.5), 196-5 (सुषमा, 43.3), 200-6 (वेदा, 44.4), 201-7 (झूलन, 44.6), 218-8 (शिखा, 47.3), 218-9 (दीप्ति, 48.1), 219-10 (राजेश्‍वरी, 48.4)

राजेश्‍वरी ने दिलाई भारत को पहली सफलता
भारतीय गेंदबाजी की शुरुआत तेज गेंदबाज झूलन गोस्‍वामी ने की, पहले ओवर में केवल एक रन बना. शिखा पांडे की ओर से फेंका गया दूसरा ओवर महंगा साबित हुआ, जिसमें विनफील्‍ड और ब्‍युमोंट ने एक-एक चौका लगाया. ओवर में कुल 10 रन बने. इंग्‍लैंड की दोनों बल्‍लेबाजों में ब्‍युमोंट ज्‍यादा आक्रामक दिखीं. शिखा की ओर से फेंके गए पारी के छठे ओवर में 9 रन बने, जिसमें ब्‍युमोंट के दो चौके शामिल थे. पारी के नौवें ओवर में झूलन की गेंद पर अम्‍पायर ने विनफील्‍ड को एलबीडब्‍ल्‍यू दे दिया था, लेकिन टीवी अम्‍पायर ने फैसला बल्‍लेबाज के पक्ष में दिया और विनफील्‍ड आउट होने से बच गईं. 10वें ओवर में इंग्‍लैंड को एक और जीवनदान मिला जब स्पिनर राजेश्‍वरी गायकवाड़ की गेंद पर विकेटकीपर सुषमा वर्मा ने ब्‍युमोंट का कैच ड्रॉप कर दिया. यह जोड़ी जब भारत के लिए मुश्किल बन रही थी तब राजेश्‍वरी गायकवाड़ टीम के लिए सफलता लेकर आईं. उन्‍होंने लॉरेन विनफील्‍ड (24रन, चार चौके) को बोल्‍ड कर दिया. पहला विकेट 47 के स्‍कोर पर गिरा.

पूनम यादव ने दो विकेट लिए 
पारी के 15वें ओवर में लेग स्पिनर पूनम यादव ने ब्‍यूमोंट (23रन, पांच चौके) को आउट कर भारत को दूसरी सफलता दिलाई, जिनका कैच डीप मिडविकेट पर झूलन ने लपका. दूसरा विकेट 60 के स्‍कोर पर गिरा. अपने अगले ही ओवर में पूनम यादव एक और सफलता लेकर आईं जब उन्‍होंने इंग्‍लैंड की कप्‍तान हीथर नाइट (1) को एलबीडब्‍ल्‍यू दिया. थर्ड अम्‍पायर ने यह फैसला भारतीय गेंदबाज के पक्ष में दिया. जल्‍दी-जल्‍दी तीन विकेट गिरने से इंग्‍लैंड की टीम दबाव में आ गई. तीसरा विकेट 63 रन के स्‍कोर पर गिरा.25 ओवर के बाद इंग्‍लैंड का स्‍कोर तीन विकेट पर 103 रन था.

झूलन गोस्‍वामी ने दिए लगातार झटके 
63 रन के स्‍कोर पर तीन विकेट गिरने के बाद पारी को संवारने की जिम्‍मेदारी सारा टेलर और नताली शिवर ने निभाई. इन दोनों ने बिना किसी अतिरिक्‍त क्षति के स्‍कोर को 100 रन के पार पहुंचाया. 30 ओवर के बाद इंग्‍लैंड का स्‍कोर तीन विकेट पर 133 रन था. इस जोड़ी को तोड़ने के लिए तेज गेंदबाज झूलन गोस्‍वामी को भी आक्रमण पर लाया गया. यह फैसला कारगर रहा और झूलन ने सेट हो चुकी सारा टेलर (45 रन, 62 गेंद) को विकेटकीपर सुषमा वर्मा से कैच करा दिया. अगली ही गेंद पर झूलन टीम के लिए एक और सफलता लेकर आईं. उन्‍होंने नई बल्‍लेबाज फ्रेन विल्‍सन (0) को एलबीडब्‍ल्‍यू कर दिया. झूलन हैट्रिक के करीब थीं, लेकिन ब्रंट ने खतरा टाल दिया. 35वें ओवर में भारत के पास एक और विकेट हासिल करने का मौका था, लेकिन हरमनप्रीत की गेंद पर सुषमा वर्मा रन आउट का मौका चूक गईं.

इंग्‍लैंड की नताली ने बनाया अर्धशतक
झूलन जल्‍द ही एक विकेट और लेने में सफल रहीं. उन्‍होंने अर्धशतक पूरा करने वाली नताली शिवर को (51रन, 88 गेंद, पांच चौके) को एलबीडब्‍ल्‍यू किया. देखते ही देखते इंग्‍लैंड का स्‍कोर तीन विकेट पर 146 रन से छह विकेट पर 164 रन पर पहुंच गया. 200 रन के पहले इंग्‍लैंड टीम को एक और झटका झेलना पड़ा, जब कैथरीन ब्रंट (34 रन, दो चौके) दीप्ति शर्मा के डायरेक्‍ट थ्रो पर रन आउट हो गईं. सातवां विकेट 196 के स्‍कोर पर गिरा. 47वें ओवर में इंग्‍लैंड का स्‍कोर 200 रन के पार पहुंचा. शिखा पांडे द्वारा फेंका गया पारी का 48वां ओवर काफी महंगा रहा, जिसमें दो चौके सहित 14 रन बने. निर्धारित 50 ओवर में इंग्‍लैंड टीम सात विकेट पर 228 रन बनाने में सफल रही. जेनी गुन 25 और लॉरा मार्श 14 रन बनाकर नाबाद रहीं. भारत के लिए झूलन गोस्‍वामी ने सर्वाधिक तीन और पूनम यादव ने दो विकेट लिए.

इंग्‍लैंड का विकेट पतन : 47-1 (विनफील्‍ड, 11.1), 60-2 (ब्‍युमोंट, 14.3), 63-3 (नाइट, 16.1), 146-4 (टेलर, 32.4), 146-5 (विल्‍सन, 32.5), 164-6 (शिवर, 37.1), 196-7 (ब्रंट, 46 ओवर)

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Bitnami