गुड़िया गैंगरेप हत्याकांडः एस पी शिमला टी डव्लू नेगी का तबादला

गुड़िया गैंगरेप हत्याकांडः एस पी शिमला टी डव्लू नेगी का तबादला

0 186

 

गुड़िया गैंगरेप हत्याकांडः देर रात थाने के भीतर एक आरोपी की हत्या शिमला के कोटखाई में गुड़िया गैंगरेप और हत्या मामले में पकड़े गए एक आरोपी की हत्या कर दी गई है। पुलिस के अनुसार कोटखाई थाने के भीतर ही इसके साथी राजेंद्र सिंह उर्फ राजू ने नेपाली मूल के इस युवक की हत्या कर डाली। प्रारंभिक सूचना के अनुसार गैंगरेप और हत्या मामले में कुल छह आरोपियों को पुलिस ने धर दबोचा था। इनमें से एक को न्यायिक हिरासत में भेजा गया था जबकि पांच आरोपी कोटखाई थाने में पुलिस रिमांड पर थे। इनमें राजू और सूरज नाम का यह युवक एक ही लॉकअप में बंद थे।

बताया जा रहा है कि देर रात करीब 12 बजे थाने के भीतर दोनों आरोपी आपस में उलझ गए। आरोपी राजेंद्र नेपाली मूल के 29 वर्षीय सूरज पर टूट पड़ा। उसने उसे जोर से फर्श पर पटक दिया। इससे सूरज लहुलूहान हो गया और ज्यादा खून बहने से उसकी मौत हो गई। आईजी साउथ रेंज जहूर जैदी का कहना है कि एक आरोपी की हत्या हो गई है। जांच चल रही है। सो रही थी पुलिस, कस्टडी में मौत से गहराया सस्पेंस इस हत्या के बाद जहां पुलिस की कार्यप्रणाली सवालों के घेरे में आ गई है। वहीं, हत्या मामले का राज और गहराता जा रहा है। सवाल उठ रहे हैं कि जब ये वारदात अंजाम दी गई, उस वक्त पुलिस क्या सो रही थी। रात करीब 12 बजे पुलिस को इस हाथापाई की खबर क्यों नहीं लगी। क्यों आरोपी राजेंद्र को मारपीट करने का मौका दिया गया। आखिर पुलिस ने कोई कदम क्यों नहीं उठाया। पुलिस की कार्यप्रणाली अब सवालों के घेरे में आ गई है।

ड्यूटी पर तैनात जांच अधिकारी, लॉकअप की निगरानी में लगे जवान और पूछताछ कर रहे पुलिसकर्मियों पर जल्द ही गाज गिर सकती है। पुलिस महकमा इस मामले मामले की जांच में जुट गया है। ज्यादा खून बहने से हुई आरोपी युवक की मौत पुलिस कह रही है कि युवक की मौत का कारण ज्यादा खून बहना है। आरोपी राजेंद्र ने जैसे ही सूरज को फर्श पर पटका उसके सिर पर गहरी चोट लग गई। इससे खून बहने लगा। काफी खून बहने और समय पर उपचार न मिलने से उसकी मौत हो गई। मगर सवाल उठ रहा है कि आखिर इतनी देर तक पुलिस कहां थी। मारपीट के बाद यदि पुलिस मौके पर पहुंचती तो सूरज को अस्पताल ले जाकर उसकी जान बचाई जा सकती थी। मगर ऐसा कुछ नहीं हुआ। पुलिस बाद में आरोपी के शव को पोस्टमार्टम के लिए ठियोग अस्पताल पहुंची। मगर यहां डॉक्टरों ने इसे शिमला आईजीएमसी के लिए रैफर कर दिया। आज इसका पोस्टमार्टम किया जाएगा। इसमें कई खुलासे हो सकते हैं।

कोटखाई मामले सारा थाना लाइन हाजिर कोटखाई थाना के लाॅकअप में आरोपी सूरज नेपाली की हत्या के बाद पूरा कोटखाई थाना सस्पेंड कर दिया गया है। थाना के एसएचओ से लेकर सभी कर्मचारियों पर निलंबन की गाज गिरी है। इसकी पुष्टि एसपी शिमला डीडब्लयू नेगी ने की है। बता दें कि कोटखाई नाबालिग छात्रा गुड़ियां मर्डरकेस में आज उस वक्त नया मोड़ आया गया,जब मामले में पुलिस द्वारा गिरफतार किए गए 6 आरोपियों में से एक आरोपी की पुलिस लाॅकअप में हत्या कर दी गई। ये सभी आरोपी कोटखाई थाने के लॉकअप में बंद थे। मंगलावर देर रात लगभग 12बजे मर्डर मामले में गिरफ्तार राजू व सूरज नेपाली में किसी बात को लेकर कहासुनी हुई। देखते ही देखते दोनों आपस में भिड़ गए, जिसमे राजू ने सूरज को जोर से जमीन पर दे मारा, जिससे सूरज नेपाली की मौत हो गई। गौरतलब है कि इन आरोपियों का 20 जुलाई को पुलिस रिमांड खत्म हो रहा था और कोर्ट में पेश किया जाना था। मगर इसी बीच दोनों आरोपी आपस में भिड़ गए और राजू ने सूरत की हत्या कर दी। इसी मामले में पूरा कोटखाई थाना सस्पेंड कर दिया गया है।

 

 

एस पी शिमला टी डव्लू नेगी का तबादला ,सोमिया होगी एस पी शिमला

 

 

 

 

 

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Bitnami