गोरखपुर: मॉक ड्रि‍ल में हुआ ऐसा, किसी ने सोचा ना था, पुलिस बोली- धोखा हो गया

0 230

गोरखपुर: गोरखपुर में शनिवार को नकहा रेलवे स्टेशन पर एक ट्रेन में आग लगने की सूचना मिली। वायरलेस पर मैसेज आया कि नौतनवां से गोरखपुर आने वाली दुर्ग एक्‍सप्रेस ट्रेन में आग लग गई और कई यात्री इसकी चपेट में आ गए। सूचना के आधार पर रेलवे से लेकर पुलिस विभाग के सभी अफसर मौके पर रवाना हो गए, लेकिन स्टेशन जाकर पता चला कि यह मॉक ड्र‍िल थी।

– गौर करने वाली बात ये है कि इस मॉक ड्र‍िल में भी लापरवाही के चलते एक बोगी पूरी तरह से जलकर खाक हो गई। आग लगने पर कितनी तेजी से सर्तकता अभियान चलता है, इसका पता लगाने पर यह मॉकड्रिल प्लान की गई थी। लेकिन सतर्कता दिखाने के चक्‍कर में एक बड़ी लापरवाही हो गई।

– प्लान था कि ट्रेन की बोगी के कोने में थोड़ी सी आग लगाकर सभी को सूचना दे दी जाएगी। इसके बाद दमकल की गाड़ि‍यां मौके पर पहुंचकर आग पर काबू पा लेंगी। लेकिन हुआ इसका उलटा। चटक धूप और गर्मी के कारण आग ने तेजी से बोगी को अपनी चपेट में ले लिया।

– वहीं, फायर ब्रिगेड की पहली गाड़ी आग लगने के करीब एक घंटे 5 मिनट बाद पहुंची। हालांकि, 11 बटालियन एनडीआरएफ के कर्मचारी अस्सिस्टेंट कमांडेंट पीएल शर्मा के नेतृत्व में मौके पर पहुंचे। लेकिन NDRF की टीम को यह नहीं पता था कि ट्रेन की एसी 2 टीयर की बॉडी की बनावट क्या है। इसलिए उन्हें रेस्क्यू में दिक्कत आई।

– कुछ देर बाद रेलवे सिविल डिफेन्स की भी टीम पहुंच गई। बोगी में से कुछ डमी घायलों को निकालकर उनको सहायता दी गई। रेलवे का दुर्घटना नियंत्रण कर्मचारी यान और महाबली डेढ़ घंटा बाद पहुंचे।

– मौके पर मौजूद लोगों का कहना है कि मॉक ड्रि‍ल की जगह अगर सही में पैसेंजर्स से भरी बोगी में आग लगी होती तो सभी जलकर मर जाते।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Bitnami